Wednesday, August 02, 2006

'अभिव्यक्ति' पर मेरी पहली अभिव्यक्ति !

कल का दिन मेरे लिये अपार हर्ष का था । सुबह जब मेल बॉक्स खो ला तो देखा कि पूर्णिमा जी ने सूचना भेजी है कि मेरा सिक्किम का यात्रा विवरण अभिव्यक्ति के १ अगस्त के अंक में छप रहा है। मन खुशी से फूला ना समाया और तुरंत नाते रिश्तेदारों को खबर भिजवायी कि हमें भी लेखक बनने का सौभाग्य प्राप्त हो गया है। मन ही मन उन दोस्तों को भी धन्यवाद दिया जिन्होंने सिक्किम चलने का सुझाव दिया था। वैसे तो सिक्किम का यात्रा विवरण सुना-सुना कर मैंने आप सबको महिनों बोर किया था पर जो मेरे इस अनर्गल प्रलाप से पतली गली से साफ बच निकले हों उनके लिये अभिव्यक्ति की ये कड़ी पुनः परोस रहा हूँ ।

सिक्किम के सफर पर....

श्रेणी :
अपनी बात आपके साथ में प्रेषित
Related Posts with Thumbnails

9 comments:

rachana on August 02, 2006 said...

haardik badhai sweekar kareN......

Jitendra Chaudhary on August 02, 2006 said...

भई हमारी तरफ़ से भी बहुत बहुत बधाई। अभिव्यक्ति जैसी प्रतिष्ठित वैब पत्रिका मे आपका शानदार सिक्किम यात्रा विवरण छपना बहुत ही गर्व की बात है। आशा है आपके लेख हमे लगातार दिखते रहेंगे।भैया ब्लॉग को मत भूलना।

अनूप शुक्ला on August 03, 2006 said...

बधाई। आगे के लिये शुभकामनायें।

ई-छाया on August 03, 2006 said...

हार्दिक बधाई,
हालांकि आपके लिखने के साथ ही मै उसे पढता रहा था, पर अभिव्यक्ति पर फिर से पढा, और आपके बताने के पहले ही (कुछ संपादित लगा)।

प्रेमलता पांडे said...

बधाई। वर्णन बहुत अच्छा है।

Abhas Kumar on August 06, 2006 said...

Congratulations! Hope, the readers get to read much more from your side! good luck!

DR PRABHAT TANDON on August 07, 2006 said...

भाई बधाई हो, अभी कुछ देर पहले औरकुट पर आपको देखा ,बस आप की साईट तक पहुंच ही गये,आगे और भी मुलकात होती रहेगी।
प्रभात

Manish on August 07, 2006 said...

आप सब की बधाई और शुभकामनाओं का तहेदिल से शुक्रिया !

Manish on August 07, 2006 said...

छाया संपादित तो करना ही पड़ा होगा ! सारी बकवास थोड़े ही छाप देंगे:p।
और भइये तसवीर दिखानी है तो तबियत से दिखाइए ना :)

प्रभात जी स्वागत है ! आपके ब्लॉग पर जाने में ४०४ error का कई बार सामना कर चुका हूँ माजरा क्या है?
गजलों से आपकी तरह मुझे भी बेहद लगाव है :)

 

मेरी पसंदीदा किताबें...

सुवर्णलता
Freedom at Midnight
Aapka Bunti
Madhushala
कसप Kasap
Great Expectations
उर्दू की आख़िरी किताब
Shatranj Ke Khiladi
Bakul Katha
Raag Darbari
English, August: An Indian Story
Five Point Someone: What Not to Do at IIT
Mitro Marjani
Jharokhe
Mailaa Aanchal
Mrs Craddock
Mahabhoj
मुझे चाँद चाहिए Mujhe Chand Chahiye
Lolita
The Pakistani Bride: A Novel


Manish Kumar's favorite books »

स्पष्टीकरण

इस चिट्ठे का उद्देश्य अच्छे संगीत और साहित्य एवम्र उनसे जुड़े कुछ पहलुओं को अपने नज़रिए से विश्लेषित कर संगीत प्रेमी पाठकों तक पहुँचाना और लोकप्रिय बनाना है। इसी हेतु चिट्ठे पर संगीत और चित्रों का प्रयोग हुआ है। अगर इस चिट्ठे पर प्रकाशित चित्र, संगीत या अन्य किसी सामग्री से कॉपीराइट का उल्लंघन होता है तो कृपया सूचित करें। आपकी सूचना पर त्वरित कार्यवाही की जाएगी।

एक शाम मेरे नाम Copyright © 2009 Designed by Bie