Tuesday, January 20, 2009

'एक शाम मेरे नाम' ने पूरे किए एक लाख (100000) पेजलोड्स : आभार सभी पाठकों का !

पिछले हफ्ते एक शाम मेरे नाम ने अपने एक लाख (100000) पेज लोड्स पूरे किये। इस ब्लॉग के रोमन हिंदी संस्करण ने दिसंबर २००७ में जब ये मुकाम हासिल किया था तब मैंने रोमन हिंदी ब्लागिंग में अपने तजुर्बे को अपनी इस पोस्ट में आप सब के साथ बाँटा था। जब हिंदी ब्लागिंग शुरु की थी तो स्टैटकाउंटर (Statcounter) कॉनफिगर करते समय नहीं सोचा था कि कभी इसकी डिजिट संख्या को पाँच से छः करने की जरूरत पड़ सकती है। पर आज जब मैं ये होता देख रहा हूँ तो मन में एक संतोष का अनुभव हो रहा है।


अप्रैल 2006 में जब हिंदी ब्लागिंग शुरु की थी तब पहले नौ महिनों में ये संख्या ५००० के करीब थी में थी जैसा कि आप नीचे के ग्राफ से देख सकते हैं। विगत दो वर्षों में ये संख्या उत्तरोत्तर बढ़ी है और ऍसा संभव हुआ है हिंदी ब्लागिंग के विस्तार और सर्च इंजनों की उपलब्धता की वज़ह से।


जहाँ हिंदी चिट्ठे की पाठक संख्या में वृद्धि हुई है वहीं मेरा रोमन हिंदी चिट्ठा में पिछले दो सालों के आँकड़ों में कोई खास फर्क नहीं आया है। पर आज भी रोमन हिंदी संस्करण Ek Shaam Mere Naam को पढ़ने वालों की संख्या (१८६००० पेज लोड्स और १२५००० यूनिक विजिटर) इस चिट्ठे से कहीं ज्यादा है और वो भी तब जब कि इसके अधिकांश पाठक सर्च इंजन से ही वहाँ पहुँचते हैं। ये बात जरूर है कि दोनों चिट्ठों की पेजलोड्स संख्या के अंतर में निरंतर कमी आ रही है। इसकी वज़ह ये है कि अब लोग हिंदी के सर्च इंजनों का भी इस्तेमाल करने लगे हैं।

पर एक बात में हिंदी संस्करण अपने रोमन हिंदी संस्करण से आगे निकला है तो वो है सब्सक्राइबर संख्या। गौर करने की बात है कि मैंने हिंदी ब्लॉग पर ये सुविधा रोमन हिंदी संस्करण से काफी बाद में शुरु की थी। आज के दिन में हिंदी और रोमन संस्करण को मिलाकर करीब ४५० सब्सक्राइबर हैं जो कि एक एकल हिंदी चिट्ठे के लिए आपार हर्ष की बात है। पिछले साल मैंने इस चिट्ठे पर विषयों की एकरूपता बनाए रखने के लिए अपने यात्रा वृत्तांतों को मुसाफ़िर हूँ यारों पर प्रस्तुत करना शुरु कर दिया है जो आप में से कईयों के लिए सुविधाजनक रहा होगा।


पिछले तीन चार सालों से ब्लागिंग से जुड़ी मेरी प्रतिबद्धता इसीलिए रही है क्यूँकि इसने ना केवल मुझे अपनी रुचियों से जुड़े रहने का मौका दिया है बल्कि उन्हें अपने पाठको से (जिनका एक बड़ा हिस्सा ब्लागिंग जगत के बाहर से आता है) बाँटकर मैंने उनका स्नेह भी अर्जित किया है । आशा है कि आने वाले वर्षों में भी आप सभी ये स्नेह बनाए रखेंगे ताकि संगीत और साहित्य जो इस चिट्ठे के दो मजबूत आधार स्तंभ हैं के माध्यम से आपसे विचारों का आदान प्रदान चलता रहे।

Related Posts with Thumbnails

24 comments:

समयचक्र - महेद्र मिश्रा on January 20, 2009 said...

अभी एक लाख अब करोड़ पूरा करे. शुभकामना

Nirmla Kapila on January 20, 2009 said...

aap isi tarah agay badhte rahen shubhkaamnaayen

कंचन सिंह चौहान on January 20, 2009 said...

bahut bahut badhai...aap yu hi records banate rahe aur ham mugdha ho kar taliya bajaate rahe

Anonymous said...

bahut bahut badhaiyaa !
jald hi ek carore bhi pura kare

isase yah baat to siddh hoti hai ki aaj bhi logo kaa deshprem kam nahi hua hai


Rimzim Computer

रंजना [रंजू भाटिया] on January 20, 2009 said...

बहुत बहुत बधाई जी आपको ...

अभिषेक ओझा on January 20, 2009 said...

बधाई! बधाई !
और पार्टी कब?

योगेन्द्र मौदगिल on January 20, 2009 said...

Badhai Mitrawar.....

mahashakti on January 20, 2009 said...

महेंद्र जी की वाणी को भगवान सत्‍य करें, बधाई

मीत on January 20, 2009 said...

बधाई हो भाई. ये "1" के आगे इतने "0" हैं .... कितने हुए ... बहरहाल ? जितना भी हुआ .. बहुत ज्यादा है ये समझ में आया मुझ कमअक्ल को. बाप रे बाप.

Keep it up Boss.

bhoothnath(नहीं भाई राजीव थेपडा) on January 21, 2009 said...

अरे भाई मनीष...........ये तो कमाल हो गया......धोती फाड़ कर रूमाल हो गया............एक लाखवीं पोस्ट पर मेरी बधाई.....मैं तो आज ही आया यहाँ पर.....मुझे मालूम ही नहीं था ना कि..............खैर...........रांची में कहाँ से हो ये तो बधाई.......कहीं तुम मेरे पड़ोसी ही ना निकल जाओ भाई......अगर फुर्सत में रहो तो आओ ना कभी आकर खेले हम प्यार की लडाई......!!राजीव थेपडा.......रांची 9934305251

anitakumar on January 21, 2009 said...

congratulations

nepali said...

Just a different comment though. Have you watched the recent bollywood movie " chandani chowk to china"?

http://www.youtube.com/watch?v=NVBQikG3GoA&eurl=http://dautari.org/

yunus on January 21, 2009 said...

बधाई हो मनीष
मज़ा आ गया आंकड़े देखकर ।
लगे रहो ।

seema gupta on January 21, 2009 said...

बहुत बहुत बधाई

Regards

कुश on January 21, 2009 said...

बधाई मनीष भाई... मैं तो यही कहूँगा की आपकी मेहनत रंग लाई...

Rachana. on January 21, 2009 said...

congratulations!! the number is huge indeed but what is more important is 'samanya junta" like me can relate to literature and music through your informative blog posts in simple language...

All The Very Best for Future....

मोहन वशिष्‍ठ on January 21, 2009 said...

लखपति बनने की बधाई करोडपति बनने की शुभकामनाएं और अरबपति बनाने की कामना

डॉ .अनुराग on January 21, 2009 said...

निसंदेह आप इसके हक़दार है.....बधाई

poemsnpuja on January 21, 2009 said...

congrats!!many more milestones to reach :) happy journey.

उन्मुक्त on January 21, 2009 said...

लखपति बनने की बधाई

एस. बी. सिंह on January 21, 2009 said...

हार्दिक शुभकामनाएं !

Manish Kumar on January 22, 2009 said...

आप सभी की शुभकामनाओं का अतिशय धन्यवाद !

भूत भाई मैं राँची में मै SAIL की कॉलोनी में रहता हूँ। आप किधर रहते हैं ?

Manisha Dubey said...

bahut-bahut badhai,ye toh wahi baat hui''

bhavukta angur lata se khinch kalpana ki hala,
kabhi na kan bhar khali hoga lakh piye do lakh piye;
pathakgun hain pinewale
pustak meri madhushala

V.K.Shukla said...

Manish
MERI BADHAI SWEEKAR KAR LEN. BAHUT ACHHA LAGA.
ISSE BHEE AAGE JANA HAI.
SHUBHKAMNAYEN,
AAPKA KOI,

--
VINOD KUMAR SHUKLA
AGM(FPM)
BHEL,BHOPAL

 

मेरी पसंदीदा किताबें...

सुवर्णलता
Freedom at Midnight
Aapka Bunti
Madhushala
कसप Kasap
Great Expectations
उर्दू की आख़िरी किताब
Shatranj Ke Khiladi
Bakul Katha
Raag Darbari
English, August: An Indian Story
Five Point Someone: What Not to Do at IIT
Mitro Marjani
Jharokhe
Mailaa Aanchal
Mrs Craddock
Mahabhoj
मुझे चाँद चाहिए Mujhe Chand Chahiye
Lolita
The Pakistani Bride: A Novel


Manish Kumar's favorite books »

स्पष्टीकरण

इस चिट्ठे का उद्देश्य अच्छे संगीत और साहित्य एवम्र उनसे जुड़े कुछ पहलुओं को अपने नज़रिए से विश्लेषित कर संगीत प्रेमी पाठकों तक पहुँचाना और लोकप्रिय बनाना है। इसी हेतु चिट्ठे पर संगीत और चित्रों का प्रयोग हुआ है। अगर इस चिट्ठे पर प्रकाशित चित्र, संगीत या अन्य किसी सामग्री से कॉपीराइट का उल्लंघन होता है तो कृपया सूचित करें। आपकी सूचना पर त्वरित कार्यवाही की जाएगी।

एक शाम मेरे नाम Copyright © 2009 Designed by Bie