Saturday, January 05, 2008

वार्षिक संगीतमाला २००७ : पायदान २४ - झूम बराबर झूम बराबर झूम बराबर झूम...

पिछले गीत ने अगर थिरकने को मजबूर ना किया हो तो अब भी देर नहीं हुई इस बार गुलज़ार के बोलों पर ही झूम लें। हाँ हुजूर सही पहचाना आपने इस संगीतमाला की २४ वीं पायदान पर गीत वो जिसे लिखने के पीछे प्रेरित किया गुलज़ार को सत्तर के दशक की इस कव्वाली ने। बचपन में मैंने भी इसका खूब आनंद उठाया था। अगर बोल ना याद आ रहे हों तो मैं आपकी मदद कर देता हूँ

काली घटा है, मस्त फ़जां है
काली घटा है, मस्त फ़जां है जाम उठा कर घूम घूम घूम
झूम बराबर झूम शराबी, झूम बराबर झूम....


नज़ा शोलापुरी की इस रचना को आवाज़ दी थी १९७४ में बनी फिल्म 5 Rifles में अजीज नजां ने और सुनने वाले झूम-झूम के मस्त हो गए थे। पर गुलज़ार ने फिल्म 'झूम बराबर झूम' में जो गीत रचा उसमें शराब का नशा तो नहीं रहा पर विशुद्ध पंजाबी तड़का जरूर लगा दिया। इस गीत के फिल्म में तीन रूप हैं। एक में शंकर महादेवन का सोलो है तो दूसरे में वो सुनिधि चौहान और जुबीन गर्ग के साथ हैं और तीसरे में सुखविंदर सिंह, महालक्ष्मी अय्यर और केके के साथ सुर मिला रहे हैं।

गीत के पहले रूप में गुलज़ार इश्क की पेचदियों से उलझ रहे हैं.. पूरे बोल के लिए ये लिंक देखें

ये इश्क पुराना पापी
हर बार खता करता है, रब्बा….
हर बार बचाता हूं मैं
हर बार ये जा मरता है, रब्बा….
हो पास कोई आ गया तो
रास कोई आ गया तो
बार बार कल्रेजे पे ना मार अखियाँ
उड़ती उड़ती अखियों के
लड़ गये पेचे लड़ गये वे
गीत लगा के झूम झूम झूम
झूम बराबर झूम बराबर झूम बराबर झूम बराबर झूम....


गुलज़ार वहीं तीसरे रूप में चाँद, रात और आसमान से खेलते हुए वे अपने स्वाभाविक रंग में दिखाई पड़ते हैं

हो चाँद की उतार ली है दोनों बालियाँ
आजा आजा हाथ मार दे तालियाँ
ओ बिल्लोनी बिल्लोनी हाथ मार दे तालियाँ
आजा चाँदनी कूटेंगे, आसमान को लूटेंगे
चल धुआँ उड़ा के झूम झूम
झूम बराबर झूम बराबर झूम बराबर झूम बराबर झूम....


पर इस गीत में, बोल से ज्यादा मुझे शंकर-‍अहसान‍-लॉए की सांगीतिक व्यवस्था ज्यादा आकर्षित करती है। गीत की शुरुआत से ही की बोर्ड, गिटार, बैगपाइपर, ड्रम और ढोल सब मिलकर ऐसा अदभुत समा बनाते हैं जिसकी मस्ती में आप भी झूमने को विवश हो जाते हैं। तो आनंद लीजिए इस चौबिसवें नंबर के गीत का




इस गीत का दूसरा वर्जन सुनने के लिए यहाँ क्लिक करें।
Related Posts with Thumbnails

8 comments:

sunita (shanoo) on January 05, 2008 said...

आपको नव वर्ष की शुभ कामनायें...

विकास कुमार on January 06, 2008 said...

शंकर-‍अहसान‍-लॉए हमारे कालेज में आये थे. सुन के मजा आ गया. :)

वैसे आपका हेडर जान पह्चान लग रहा है. कहा~< की तस्वीर है ये?

और हाँ...नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ

Sneha on January 06, 2008 said...

Happy New Year to you too, Manish.I have begun to love the way people express their feelings through this medium. I am a new starter and would
continue to contribute.:)

Manish on January 06, 2008 said...

सुनीता जी शुक्रिया आपको भी नया साल मुबारक !

विकास भाई नौकरी क्या मिली , अपनी IIT Bombay को भूल गए बच्चा :)

Sneha That should be the spirit...:)

Phoenix Rises on January 07, 2008 said...

This is a fun song! Movie was totally bakwaas, but songs were goooooood!

anitakumar on January 07, 2008 said...

मनीष जी जान कर अच्छा लगा कि आप भी उसी गाने पर झूम उठे जिस पर हम आज तक झूम रहे हैं, खूबसूरत शब्द और उससे भी ज्यादा झूमता सगींत्। हम अभी तक टेकनोलोजी चैंलेजड हैं क्या आप हमें झूम बराबर ( दोनों वर्शन) ई-मेल में भेज सकते हैं प्लीज,

anitakumar on January 07, 2008 said...

नये साल की ढेर सारी शुभकामनाएं, वैसे आप के धोखे में किसी और मनीष को शुभकामनाएं दे चुके हैं पहले…हा हा

Manish on January 08, 2008 said...

अनीता जी कुछ वक्त दें आपको सप्ताहांत में ई मेल करता हूँ. नया साल आपको भी मुबारक। वैसे यहाँ पर भी इस फिल्म के गीत हैं।
http://www.funmaza.com/jhoom_barabar_jhoom.html

 

मेरी पसंदीदा किताबें...

सुवर्णलता
Freedom at Midnight
Aapka Bunti
Madhushala
कसप Kasap
Great Expectations
उर्दू की आख़िरी किताब
Shatranj Ke Khiladi
Bakul Katha
Raag Darbari
English, August: An Indian Story
Five Point Someone: What Not to Do at IIT
Mitro Marjani
Jharokhe
Mailaa Aanchal
Mrs Craddock
Mahabhoj
मुझे चाँद चाहिए Mujhe Chand Chahiye
Lolita
The Pakistani Bride: A Novel


Manish Kumar's favorite books »

स्पष्टीकरण

इस चिट्ठे का उद्देश्य अच्छे संगीत और साहित्य एवम्र उनसे जुड़े कुछ पहलुओं को अपने नज़रिए से विश्लेषित कर संगीत प्रेमी पाठकों तक पहुँचाना और लोकप्रिय बनाना है। इसी हेतु चिट्ठे पर संगीत और चित्रों का प्रयोग हुआ है। अगर इस चिट्ठे पर प्रकाशित चित्र, संगीत या अन्य किसी सामग्री से कॉपीराइट का उल्लंघन होता है तो कृपया सूचित करें। आपकी सूचना पर त्वरित कार्यवाही की जाएगी।

एक शाम मेरे नाम Copyright © 2009 Designed by Bie