Friday, February 05, 2021

वार्षिक संगीतमाला 2020 गीत # 12 : ओ हीरिये मेरी सुन ज़रा, है इश्क़ मेरा सरफिरा फ़साना ... Heeriye

इस संगीतमाला की शुरुआत में मैंने आपको हीमेश रेशमिया की फिल्म हैप्पी हार्डी और हीर के दो गाने सुनाए थे। पहला गीत था आदत और दूसरा तेरी मेरी कहानी । वे दोनों गीत तो बीस के नीचे की पायदानों पर सिमट गए थे।आज बारहवीं पायदान पर इस फिल्म का तीसरा और इस संगीतमाला में शामिल होने वाला आखिरी गीत ले कर आया हूँ जिसे गाया है अरिजीत सिंह और श्रेया घोषाल ने। 

ये बात मैंने गौर की है कि प्रीतम की तरह ही हीमेश भी अपने गीतों में सिग्नेचर ट्यून का बारहा इस्तेमाल करते हैं। सिग्नेचर ट्यून मतलब संगीत का एक छोटा सा टुकड़ा जो पूरे गीत में बार बार बजता है। इन टुकड़ों की कर्णप्रियता इतनी ज्यादा होती है कि उसे एक बार सुन लेने के बाद आप उसके गीत में अगली बार बजने का इंतज़ार करते हैं। 

एक खूबसूरत आलाप से ये गीत शुरु होता है और फिर पहले गिटार और उसी धुन का साथ देते तबले का जादू गीत के प्रति श्रोता का आकर्षण तेजी से बढ़ा देता है।  सिग्नेचर ट्यून की तरह इस गीत की एक सिग्नेचर लाइन भी है जो हर अंतरे के बात लगातार दोहराई जाती है। वो पंक्ति है इश्क़ मेरा सरफिरा फ़साना ओ हीरिये मेरी सुन ज़रा, है इश्क़ मेरा सरफिरा फ़साना। इस गीत को लिखने वाले का नाम पढ़ कर मैं चकित रह गया। जी हाँ इस गीत को लिखा है संगीतकार विशाल मिश्रा ने जो संगीतमाला की पिछली पायदान पर गायक की भूमिका निभा रहे थे।



इश्क की भावनाओं से लबरेज इस गीत में विशाल के बिंब और बोलों का प्रवाह देखने लायक है। खासकर शब्दों का दो बार बार दोहराव सुनने में मन को सोहता है। 

है इश्क़ मेरा सरफिरा फ़साना, है इश्क़ मेरा सरफिरा फ़साना 
ओ हीरिये मेरी सुन ज़रा, है इश्क़ मेरा सरफिरा फ़साना 
इश्क़ मज़हब जैसे ख़ुदा, इश्क़ निस्बत जैसे दुआ 
ओ हीरिये मेरी सुन ज़रा है इश्क़ मेरा सरफिरा फ़साना 
है इश्क मेरा सरफिरा फ़साना 

तेरी आँखों में हम अपनी ज़िन्दगी का हर एक सपना देखते हैं ओ रांझणा 
ओ हीरिये मेरी सुन ज़रा है इश्क़ मेरा सरफिरा फ़साना 
है इश्क मेरा सरफिरा फ़साना ...आ आ..

धूप में तुझसे ठंडक, सर्द में तुझसे राहत
रूह की तुम शिद्दत, आह की तुम चाहत
दवा दवा में तू है, ज़फा ज़फा में तू है
सफ़ा सफ़ा में तू है, मेरे ख़ुदा मेरे ख़ुदा
इश्क़ सोहबत जैसे वफ़ा, इश्क़ फितरत जैसे नशा
ओ हीरिये मेरी सुन ज़रा है इश्क मेरा सरफिरा फ़साना 

अश्कों में तेरी खुशियाँ पल में बस बीती सदियाँ 
दिन सी ये लगती रतियाँ, खट्टी मीठी ये बतियाँ 
सबा सबा में तू है, हवा हवा में तू है 
घटा घटा में तू है मेरे ख़ुदा, मेरे ख़ुदा, मेरे ख़ुदा.. 
इश्क कुदरत जैसे फ़ना, इश्क़ तोहमत जैसे सज़ा 
ओ हीरिये मेरी सुन ज़रा है इश्क़ मेरा सरफिरा फ़साना ....

श्रेया घोषाल को इस गीत में दो ही पंक्तियाँ मिली हैं पर उतने में ही वो अपना कमाल दिखा जाती हैं। अब इस मिश्री सी मधुर धुन को अरिजित की आवाज़ का साथ मिले तो गीत कैसे ना पसंद आए। तो आइए सुनते हैं हीमेश, विशाल, श्रेया और अरिजीत के इस सम्मिलित कमाल को जो ऐश्वर्या मजूमदार, ॠतुराज, सलमान  शेख और अनु दत्त के कोरस और आलापों से और श्रवणीय हो गया है।


वार्षिक संगीतमाला 2020


Related Posts with Thumbnails

6 comments:

Unknown on February 06, 2021 said...

भावनाओं से भरे इस गीत को सुनाने के लिये धनयवाद

Manish Kumar on February 06, 2021 said...

गीत आपको पसंद आया जान कर प्रसन्नता हुई। पर कमेंट में अपना नाम भी इंगित करते तो मुझे अच्छा लगता।

Manish on February 06, 2021 said...

अरिजीत सिंह को सुनना हमेशा खूबसूरत लगता है, पर श्रेया घोषाल को कुछ और पंक्तियां मिलती तो अच्छा होता!!

Manish Kumar on February 06, 2021 said...

Manish स्त्री स्वरों को फिल्मी गीतों में आजकल हमेशा कम से ही संतोष करना पड़ता है।

Sumit on February 16, 2021 said...

Heard for the first time. Very nice! So many talents collaborating.... creating magic!

Manish Kumar on February 24, 2021 said...

Yeah Sumit..Himesh musical arrangements are always pleasing to the ears.

 

मेरी पसंदीदा किताबें...

सुवर्णलता
Freedom at Midnight
Aapka Bunti
Madhushala
कसप Kasap
Great Expectations
उर्दू की आख़िरी किताब
Shatranj Ke Khiladi
Bakul Katha
Raag Darbari
English, August: An Indian Story
Five Point Someone: What Not to Do at IIT
Mitro Marjani
Jharokhe
Mailaa Aanchal
Mrs Craddock
Mahabhoj
मुझे चाँद चाहिए Mujhe Chand Chahiye
Lolita
The Pakistani Bride: A Novel


Manish Kumar's favorite books »

स्पष्टीकरण

इस चिट्ठे का उद्देश्य अच्छे संगीत और साहित्य एवम्र उनसे जुड़े कुछ पहलुओं को अपने नज़रिए से विश्लेषित कर संगीत प्रेमी पाठकों तक पहुँचाना और लोकप्रिय बनाना है। इसी हेतु चिट्ठे पर संगीत और चित्रों का प्रयोग हुआ है। अगर इस चिट्ठे पर प्रकाशित चित्र, संगीत या अन्य किसी सामग्री से कॉपीराइट का उल्लंघन होता है तो कृपया सूचित करें। आपकी सूचना पर त्वरित कार्यवाही की जाएगी।

एक शाम मेरे नाम Copyright © 2009 Designed by Bie